गुरुवार, 12 मार्च 2015

केवल महिलाओं के लिए ...

जिस समय पति से  घर का कोई काम करा रही हों -

* 1 . उस समय आपको खाली नहीं रहना चाहिए कुछ करती हुई ही दिखाई दें.चाहे दूसरे कमरे में चली जाइये वहाँ चाहे जो चाहें करिए .चले जाना इसलिए भी अच्छा है कि काम करने का उनका ढंग देख कर आप बिना टोके रह नहीं पाएँगी (बेकारमें  कहा-सुनी होने लगे तो जो काम कर रहे हैं उससे भी जाएँगी).
* 2 . दिखना  यही चाहिए कि आप व्यस्त हैं .कुछ पढ़ना ही चाहें तो कोई कपड़ा और सुई-धागा सामने कर के, कोई देखे तो लगे कि कुछ सिलाई चल रही हैं.
* 3 .इधर आना हो तो हँसती हुई कदापि न आएं ,खुश न दिखाई दें नहीं तो वे समझेंगे मुझसे काम करा के खुश हो रही है .
* 4 . थोड़ा सा मुँह बना लें तो और अच्छा  .किसी बात पर हँसी भी आए तो दूसरी जगह जाकर हँस आएँ ,इधर आने पर गंभीर होना या मुँह ज़रा चढ़ा होना फ़ायदेमंद है  .इससे उनकी हिम्मत नहीं पड़ेगी कि कहें  'ज़रा यह उठा दो '', देखो तो ज़रा..' वगैरा वगैरा .... . होगा ये कि जब तक कुछ करेंगे ,आपको बराबर घेरे रहेंगे वो.
**

8 टिप्‍पणियां:

  1. वाह ! पर ये नुस्खे अब हमारे किसी काम के नहीं रहे...एक वक्त था जब आ सकते थे...बधाई इस रोचक पोस्ट के लिए...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. अब तो मेरे भी काम का नहीं रहा है ,पर समझ अब पाई हूँ इसलिए सोचा औरों का ही भला हो जाय !

      हटाएं
  2. वाह , यह भी अनोखा रंग है आपका . असल में यह हास्य होते हुए भी बड़े काम की सीख है अगर किसी को इसे अमल में लाने का तमीज हो .

    उत्तर देंहटाएं
  3. ...और मेरे घर में जिनको इससे मतलब होना चाहिए, उनको तो ब्लॉग से ही मतलब नहीं है. फिर भी मैंने उन्हें पढ़ा दिया है। अब ये उनके कितना काम आता है, भगवान जाने। …

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इन बातों की समझ आने में हम लोगों को समय लग जाता है ,अच्छा किया राहुल जी ,आपने उन्हें पढ़ा दिया.कोई तुली बैठी तो होंगी नहीं इत्मीनान से प्रयोग करे डालेंगी .

      हटाएं
  4. mere jaison ke liye bahut mehetvpoorn hain.....lekin zameer se mazboor pati hun......(ha.ha.ha.) badhiya naseehat.

    उत्तर देंहटाएं
  5. बढ़िया नुस्खे। पतियों से काम करवाना हो तो हम भी काम कर ही रहे है यह महसूस करवाना बहूत ही जरूरी है।

    उत्तर देंहटाएं
  6. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं